विचारधारा

आज भारतीय चिन्तन का विषय है कि आज हिन्दू पाश्चात सभ्यता का अंधाधुन अनुकरण कर अपने मूल संस्कृति को छोड़ते जा रहे है। जब कि उसी संस्कृति सभ्यता के बल पर भारत सोने की चिडि़या के नाम से जाना जाता था। आज उसी अतीत को भूलने का प्रतिफल है कि चारों तरफ दैविक आपदा, अत्याचार, अनाचार व दूराचार देखने को मिल रहा है। पूज्य गुरू जी सनातनी विचार धारा के माध्यम से सभी हिन्दू को एक सूत्र में बाधने(संगठीत हेाने) का प्रयास कर पुनः प्राचीन संस्कार एवं सभ्यता को अपनाने का प्रचार प्रसार शिव शक्ति ट्रस्ट के माध्यम से पूरे भारत में करने को कटिबद्ध है। सभी सनातनी विचार धारा के लोग भेद भाव रहित होकर संगठित होवें एवं सनातनी विचार-धारा ग्रहण कर पूज्य गुरू जी की इस ट्रस्ट के माध्यम से पूरे भारत में निम्न कार्य क्रियान्वित करने की योजना में सम्मिलित हों।

आगे पढ़े
" शिव शक्ति ट्रस्ट " सपहा रोड, कसया, कुशीनगर, उ० प्र०, भारत
मोबाइल -   +91 7388993975 / 9580000091 / 9935123345     Email : shivshaktitrust@gmail.com
© Copyright 2016-17, Shiv Shakti Trust, An NGO of India. All Rights Reserved.       | Site Designed by Panna Infotech